पुणे मंडल पर टीटी एवं लाइसेंस पोर्टरों को क्यू आर कोड आधारित पहचान पत्र जारीI

16/1/2020 पुणे- पुणे मंडल पर अप्रैल से दिसंबर 2019 के बीच अलग-अलग मौकों पर 05 फर्जी टिकट निरीक्षक पकडे गए हैं I इनमें से एक फर्जी टी.टी. ने तो जाली पहचान पत्र भी बनाया था ।

फर्जी टीटी द्वारा यात्रियों के साथ होनेवाली धोखाधड़ी की इस समस्या से निपटने के लिए पुणे रेल मंडल ने अपने टिकट निरीक्षकों को क्यू आर कोड आधारित पहचान पत्र जारी किए हैंI

इसी के साथ रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा हेतु उपलब्ध रहनेवाले सहायक (लाइसेंस पोर्टर) जो कि यात्रियों का सामान आदि ढोने में मदद करते हैं , इन्हें भी क्यू आर कोड आधारित पहचान पत्र प्रदान किए गए हैं I

यात्रीगण किसी टिकट निरीक्षक एवं सहायक (लाइसेंस पोर्टर) की पहचान हेतु मोबाइल में उपलब्ध क्यू आर स्कैनर एप की मदद से इनको रेल प्रशासन द्वारा जारी क्यू आर कोड आधारित पहचान पत्र की वैधता से अवगत हो सकते हैंI Iइस क्यू आर कोड सुविधा से फर्जी एवं वैध टिकट निरीक्षक को आसानी से पहचाना जा सकेगाI

वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक  सुनील मिश्रा ने सभी यात्रियों से वैध टिकट के साथ यात्रा करने की अपील की हैं एवं अधिक से अधिक युटीएस मोबाइल एप प्रणाली का उपयोग कर टिकट प्राप्त करेंI
: